“ ग्रैटिट्यूड ” मतलब हिंदी में? | Gratitude Meaning in Hindi

Gratitude Meaning in Hindi : अंग्रेजी शब्दों को प्रतिदिन बातचीत के दौरान इस्तेमाल किया जाता हैं। स्वाभाविक रूप से जरूरी हैं कि आप उन शब्दों के अर्थ के बारे में जाने।

Gratitude भी एक महत्वपूर्ण वाक्यांश हैं जिसका प्रयोग आप निश्चित रूप से देखे होंगे। यदि आप इसका सही मतलब नहीं जानते हैं तो इस लेख को पढ़ते रहिए हम आपको Gratitude Meaning in Hindi के बारे में अवगत कराएंगे।

“ ग्रैटिट्यूड ” मतलब हिंदी में? | Gratitude Meaning in Hindi

Write Description for Gratitude Meaning in Hindi

आभार, या धन्यवाद, एक उच्चारण है जिसे हम व्यक्त करके अपने आभार और प्रशंसा का अभिव्यक्ति करते हैं। यह एक सकारात्मक भावना है जो हमारी आत्मा को संतुष्टि और प्रसन्नता से भर देती है। आभार का अर्थ है कि हम मन से एक प्राकृतिक विश्वास करते हैं, जिसमें हम प्राप्ति, आशीर्वाद, सहयोग या किसी अन्य प्रकार की मदद के लिए आभारी होते हैं।

आभार व्यक्त करने के कई तरीके हो सकते हैं, जैसे शब्दों, भावनाओं, कार्यों या समर्पण के माध्यम से। यह एक संयमी और सच्ची भावना है जो हमें दूसरों की मदद और समर्थन के प्रति आभारी रहने के लिए प्रेरित करती है। इसका उच्चारण एक स्पष्ट, आवश्यकतानुसार और आत्मीय ढंग से किया जाता है, जो व्यक्ति के मन की स्थिति को दर्शाता है।

आभार व्यक्त करने से हम अपने साथी लोगों के प्रति आदर, सम्मान और संबंधों की महत्ता को साझा करते हैं। यह हमें अन्य लोगों की मदद के प्रति संवेदनशील बनाता है और सामाजिक संपर्क और सम्बन्धों को मजबूत बनाता है। आभार हमारे द्वारा प्राप्त किए गए लाभों और सुविधाओं की मूल्यांकना करने का एक माध्यम भी है, जो हमें संतुष्टि और प्रसन्नता की अनुभूति कराता है।

आभार का अर्थ है कि हम अपने जीवन में स्वयं को एक स्वतंत्र, गर्वशील और आनंदमय व्यक्ति मानते हैं, जो सर्वोपरि उद्धृति और समृद्धि के लिए आपको धन्यवादी बनाती है। आभार एक प्राकृतिक मनोवैज्ञानिक तत्व है जो हमें धन्यवाद और प्रसन्नता के रूप में शुभकामनाएं और आशीर्वाद प्रदान करने के लिए प्रेरित करता है।

Gratitude Meaning in Various Way

  1. Appreciation: Gratitude can be seen as a deep appreciation for the positive aspects of life. It involves recognizing and acknowledging the blessings, opportunities, and support we receive from others and the universe or a higher power.
  2. Thankfulness: Gratitude is often associated with a sense of thankfulness. It involves expressing gratitude through words, actions, or gestures to convey our recognition and appreciation for the kindness, help, or generosity we have received.
  3. Attitude of Gratitude: Gratitude can also be viewed as an attitude or mindset. It is a conscious choice to focus on the positive aspects of life, even in the face of challenges or difficulties. It involves shifting our perspective to find something to be grateful for in every situation.
  4. Humility: Gratitude is intertwined with humility. It recognizes that we are interconnected and dependent on others. It involves acknowledging that we do not achieve success or happiness solely on our own but with the support and contributions of others.
  5. Joy and Contentment: Gratitude is closely linked to experiencing happiness and contentment. When we cultivate a sense of gratitude, we enhance our overall well-being and find greater satisfaction in life. It allows us to savour the present moment and find joy in the simple pleasures and blessings surrounding us.
  6. Reciprocity: Gratitude can be seen as a form of exchange. It encourages us to give back and pay it forward. When we feel grateful, we are more inclined to help and support others, creating a cycle of kindness and generosity.
  7. Spiritual Connection: Gratitude can have a spiritual dimension for some individuals. It can be a way of connecting with something greater than oneself, whether it be a higher power, nature, or the universe. It involves recognizing the divine presence and expressing gratitude for the blessings and guidance received.
  8. Reflection and Mindfulness: Gratitude can be fostered through reflection and mindfulness practices. Taking the time to reflect on the positive aspects of our lives and being fully present at the moment allows us to cultivate a more profound sense of gratitude.
  9. Gratitude Journaling: Keeping a gratitude journal is a widespread practice. It involves regularly writing down things we are grateful for, such as experiences, relationships, achievements, or simple pleasures. This practice helps us focus on the abundance in our lives.
  10. Acts of Kindness: Expressing gratitude can involve performing acts of kindness for others. By extending a helping hand, volunteering, or performing random acts of kindness, we not only show appreciation but also contribute to the well-being of others.
  11. Gratitude for Challenges: Gratitude can extend to embracing challenges and setbacks as opportunities for growth and learning. It involves finding lessons and silver linings under challenging situations and expressing gratitude for the resilience and strength developed through them.
  12. Gratitude for Self: Gratitude can be directed inward towards ourselves. It involves recognizing and appreciating our strengths, talents, and accomplishments. Practising self-compassion and self-care are ways of expressing gratitude for our well-being.
  13. Gratitude in Relationships: Gratitude can strengthen relationships by expressing appreciation for the people in our lives. It involves acknowledging their support, love, and positive impact. Expressing gratitude to loved ones fosters deeper connections and strengthens bonds.
  14. Gratitude in Adversity: Cultivating gratitude during challenging times involves finding gratitude amidst adversity. It means seeking silver linings, finding strength in resilience, and appreciating the growth and transformation that can arise from difficult circumstances.
  15. Rituals and Traditions: Gratitude can be incorporated into patterns and traditions. Many cultures and religions have rites or practices that involve expressing gratitude, such as prayers, ceremonies, or holiday traditions centred around Thanksgiving.
  16. Gratitude for Nature: Expressing gratitude for the natural world involves recognizing nature’s beauty, resources, and interconnectedness. It can be done through spending time in nature, practising environmental stewardship, or simply acknowledging the wonders of the natural world.
  17. Gratitude for Opportunities: Being grateful for opportunities involves recognizing and making the most of the chances we have been given in life. It consists in expressing gratitude for educational, professional, personal, or growth opportunities that have come our way.

Gratitude Meaning in Hindi Various Way

  1. प्रशंसा: आभार को उन जीवन के सकारात्मक पहलुओं की गहरी प्रशंसा के रूप में देखा जा सकता है। यह मान्यता करने और स्वीकार करने का काम करता है कि हमें दूसरों से, और ऊपरी शक्तियों या ईश्वर से मिलने वाली कृपा, अवसर और सहायता की प्रशंसा करनी चाहिए।
  2. आभारभाव: आभार अक्सर आभारभाव की भावना के साथ जुड़ा होता है। यह शब्दों, कार्यों या इशारों के माध्यम से हमारी मूल्यांकना करने का काम करता है, जिससे हम अपनी पहचान और प्रशंसा को व्यक्त करते हैं, जो हमें मिली दया, सहायता या उदारता के लिए आभारी बनाती है।
  3. आभार अवस्था: आभार को एक अवस्था या मनोवृत्ति के रूप में भी समझा जा सकता है। यह एक सचेत चयन है कि हम जीवन के सकारात्मक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करें, चुनौतियों के बावजूद या कठिनाइयों के बीच में भी किसी न किसी चीज के लिए आभारी रहें। यह हमारी दृष्टिकोण को बदलने का काम करता है, ताकि हम हर स्थिति में कुछ आभारी देख सकें।
  4. विनम्रता: आभार विनम्रता के साथ जुड़ा होता है। यह स्वीकार करता है कि हम एक-दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं और दूसरों पर निर्भर हैं। यह यह स्वीकार करता है कि हम सफलता या खुशी को केवल अपने बारे में नहीं प्राप्त करते हैं, बल्कि दूसरों के सहयोग और योगदान के साथ।
  5. आनंद और संतुष्टि: आभार संतुष्टि और आनंद के साथ गहराई से जुड़ा है। जब हम आभार को संवर्धन करते हैं, तो हमारे समग्र कल्याण में सुधार होता है और हम जीवन में अधिक संतुष्टि पाते हैं। यह हमें वर्तमान क्षण का आनंद लेने और हमारे चारों ओर मौजूद सरल सुख और आशीर्वादों का आभास कराता है।
  6. प्रतिस्पर्धा: आभार को प्रतिस्पर्धा के रूप में देखा जा सकता है। यह हमें दूसरों की सहायता और समर्थन करने के लिए उत्साहित करता है। जब हम आभार महसूस करते हैं, तो हम औरों की मदद और समर्पण के लिए अधिक प्रवृत्त हो जाते हैं, जिससे दयालुता और उदारता का चक्र बनता है।
  7. आध्यात्मिक संबंध: कुछ व्यक्ति के लिए आभार का आध्यात्मिक पहलू भी होता है। इसमें किसी ऊँचे सत्ता, प्रकृति या ब्रह्मांड के साथ एकता के रूप में कुछ महान से बाहरी के साथ जुड़ने का तत्व होता है। यह दिव्य प्रतीति को मान्यता करता है और धन्यवाद करता है उस सब की कृपा और मार्गदर्शन के लिए जिसे हम प्राप्त करते हैं।
  8. स्वीकृति: आभार का अर्थ स्वीकृति के रूप में भी हो सकता है। यह हमारी स्वीकार करने की क्षमता और प्रसन्नता को दर्शाता है। हम अपने चरित्र, कार्य, योगदान या प्रदर्शन के लिए स्वीकार किए जाने पर आभार व्यक्त करके अपनी स्वीकृति प्रदर्शित करते हैं।
  9. संतोष: आभार संतोष के साथ जुड़ा होता है। यह हमें वर्तमान की संतुष्टि करने और हमारी सामरिक और आत्मिक आनंद को बढ़ाने का तरीका देता है। यह हमारे जीवन के दिए गए आदर्शों, उद्देश्यों, योग्यताओं, या प्राप्ति की क्षमता के लिए हमारा आभार व्यक्त करने के माध्यम से हमारी संतुष्टि को बढ़ाता है।
  10. सम्मान: आभार सम्मान का एक रूप है। यह दूसरों के योगदान, सहायता, या साझेदारी की महत्वाकांक्षा को प्रकट करता है। हम अपने आदर्शों, नेतृत्व, ज्ञान, या सामरिक योग्यताओं के लिए आभार व्यक्त करके दूसरों का सम्मान करते हैं।
  11. उपकार: आभार उपकार के प्रतीक है। यह हमारे मन में गहराई से एक उपकार करने वाले व्यक्ति के प्रति आभार व्यक्त करता है। हम यह मान्यता करते हैं कि हमारे जीवन में उपकार करने वाले व्यक्ति ने हमें व्यक्तिगत, आर्थिक, या आध्यात्मिक रूप से सहायता प्रदान की है और हम उसके लिए आभारी हैं।
  12. सम्बन्ध: आभार हमारे संबंधों को और मजबूत बनाता है। यह हमें दूसरों के साथ संबंध की गहराई और महत्व को समझने के लिए प्रेरित करता है। हम उनकी मदद, सहायता, समर्थन, या प्रदर्शन के लिए आभार व्यक्त करके संबंधों को देखभाल करते हैं और उन्हें महसूस करवाते हैं कि हम एक-दूसरे के लिए महत्वपूर्ण हैं।

Gratitude Meaning in Hindi With Sentence Sample

  1. मैं अपने माता-पिता का आभारी हूँ जिन्होंने मेरे जीवन को संभाला और मुझे प्रेम से पाला।
  2. हमारे देश के वीर जवानों के प्रति हमेशा आभार रखना चाहिए जो हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान की परवाह किए बिना सीमाओं पर दृष्टि बनाए रखते हैं।
  3. मेरे मित्र के उपकार के लिए मैं उसके प्रति आभारभाव रखता हूँ, उन्होंने मुझे मुसीबत में सहायता प्रदान की थी।
  4. मैं अपने शिक्षकों का आभारी हूँ जिन्होंने मुझे ज्ञान का उपहार दिया और मेरे संपूर्ण विकास में मदद की।
  5. संगठन के सभी सदस्यों का आभार है जिन्होंने इस सफलता को संभालने के लिए मेहनत की और साझा मेहनत की।
  6. मुझे यह अवसर मिलने पर आपका आभार व्यक्त करता हूँ, आपने मेरे सपनों को पूरा करने में मदद की।
  7. मैं अपने गुरुजनों का आभारी हूँ जिन्होंने मेरी मार्गदर्शन की और मेरे सपनों को साकार करने में मदद की।
  8. हम इस अद्भुत स्वर्णिम सृष्टि के लिए प्रकृति का आभार व्यक्त करते हैं जो हमें सबकुछ प्रदान करती है।
  9. मेरे परिवार के सभी सदस्यों का आभार है जो हमेशा मेरे साथ खड़े रहते हैं और मुझे प्यार और समर्थन प्रदान करते हैं।
  10. मुझे आपके उदार हृदय के लिए आभार है, जो हमेशा मेरे साथ खुशियों और दुःखों में साझा करते हैं।
  11. विद्यालय के सभी शिक्षकों का आभार है जिन्होंने मेरे शिक्षा में योगदान दिया और मेरे स्वर्णिम भविष्य की राह दिखाई।
  12. मैं आपको अपने दिल से आभार व्यक्त करता हूँ क्योंकि आपने मुझे एक मौका दिया और मेरे सपनों को साकार करने की संभावना दी।

Gratitude Antonyms Hindi and English With Table Format

English Hindi
Ingratitude अकृतज्ञता (akritagyanta)
Unthankfulness अभिनंदन (abhinandan) or अग्रिम आभार (agrim aabhaar)
Displeasure खेद (khed) or असंतुष्टि (asantushti)
Resentment नाराजगी (naaraajagi) or प्रतिकूलता (pratikoolta)
Unappreciation अमान्यता (amaanyata) or अभार न माना (abhaar na maana)
Non-recognition अवगाहन न कर पाना (avagaahan na kar paana) or अभिनय न करना (abhinay na karna)

Gratitude Synonyms Hindi and English With Table Format

English Hindi
Grateful कृतज्ञ
Thankful आभारी
Appreciative प्रशंसापूर्ण
Obliged आभारी होना
Indebted ऋणी
Beholden आभारी होना
Graciously अनुग्रह से
Acknowledge स्वीकृति करना
Gratitude कृतज्ञता
Thank धन्यवाद
Blessing आशीर्वाद
Recognition मान्यता

Gratitude Q&A in Hindi and English

1. कृतज्ञता क्या है?

कृतज्ञता एक भावना है जो हमें धन्यवाद देने या मान्यता प्रकट करने के लिए प्रेरित करती है। यह हमारे संबंधों को मधुर और सुखद बनाने का एक महत्वपूर्ण तत्व है।

2. कृतज्ञता क्यों महत्वपूर्ण है?

कृतज्ञता देना और प्राप्त करना, जीवन में आनंद और समृद्धि को बढ़ाता है। यह संबंधों को मजबूत और स्नेहपूर्ण बनाने में मदद करता है और साथ ही साथ इंसानीती की एक महत्वपूर्ण गुण है।

3. कैसे हम कृतज्ञता को विकसित कर सकते हैं?

कृतज्ञता को विकसित करने के लिए हम धन्यवाद व्यक्त करने की अभ्यास शुरू कर सकते हैं, दूसरों के सहायता के प्रति आभार व्यक्त कर सकते हैं, और दैनिक जीवन में छोटी-छोटी चीजों के लिए आभार प्रकट कर सकते हैं।

4. What is Gratitude?

Gratitude is a feeling that motivates us to give thanks or show appreciation. It is an essential element in making our relationships more meaningful and joyful.

5. Why is Gratitude Important?

Expressing and receiving gratitude enhances happiness and prosperity in life. It helps strengthen relationships and is a vital virtue of humanity.

6. How Can We Develop Gratitude?

To cultivate gratitude, we can start practising saying thank you, expressing gratitude for others’ help, and showing appreciation for small things in our daily lives.

7. How Does Gratitude Impact Our Well-being?

Gratitude has a positive impact on our overall well-being. It promotes a sense of contentment, reduces stress, enhances optimism, and improves our mental and emotional health.

8. Can Gratitude Improve Relationships?

Yes, gratitude plays a significant role in strengthening relationships. Expressing appreciation and gratitude towards others fosters trust, deepens connections, and encourages more positive and harmonious interaction.

9. Are There Any Scientific Studies on the Benefits of Gratitude?

Yes, there have been several scientific studies on gratitude. Research suggests that regular appreciation can increase happiness, improve sleep quality, enhance resilience, and improve overall psychological well-being.

10. How Can Gratitude Be Practised Daily?

Gratitude can be practised in various ways. Some standard practices include keeping a gratitude journal, expressing thanks verbally or in writing, reflecting on moments of gratitude, and performing acts of kindness to show appreciation.

Leave a Comment